Wednesday, May 10, 2017

यू बातो की बात मत करो ,जरा सुनो

एक कोशीश ...

यू बातो की बात मत करो ,जरा सुनो ,
चिल्ला-२ कर कुछ कहते खून के निशान मेंरे ,

सियासत से कुछ उठो थोड़ा खुदगर्जों ,
देखो सुनो ,समझो, हे यहा खानदान मेरे

तुम जिंदा होकर नही सुनते हो ,
मरने के बाद भी चीख सुनते कान मेरे,

आज शहादत ,कल हुए कुछ शदीद साथी जवान मेरे
क्यु हे आ ज भी देश में सुनंने में आसान मेंरे

आज मै सब कुछ कह ही देता हु ,
कब तलक दबाउ होठो में जुबान मेरे

p@W@n

No comments:

Post a Comment