Monday, September 25, 2017

खटकता हे मेरा हुनर जमाने को

क़ीमत उसे मालूम नही मेरी अभी ,
वास्ता वो मुझसे इश्क का मागता हे !!

खटकता हे मेरा हुनर जमाने को ,
कुछ ऐसा दे जिससे जमाना मुझसे मोहब्बत करे !!


Pawan
.

No comments:

Post a Comment